अपने बच्चों के भविष्य के लिए म्यूचल फंड में निवेश करें

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

अपने बच्चों के लिए इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करने से आप उनकी शिक्षा और भविष्य के लिए एक बड़ी रकम जोड़ पायेंगे।

बच्चों के भविष्य के लिए बचत करना हर अभिभावक की प्राथमिकता होती है और शिक्षा दिलवाना बहुत महँगा हो गया है, अच्छा यही है कि अभिभावक अपने बच्चों के लिए बचत बच्चे की जन्म से ही शुरु कर दें, क्योंकि बच्चे को ज्यादा पैसों की जरूरत उच्च शिक्षा के लिये, शादी के लिये ही होगी, तो इतना समय निवेश के लिए पर्याप्त होगा। अभिभावकों को इक्विटी म्यूचुअल फंड में सिस्टेमेटिक इन्वेस्टमेंट प्लान एसआईपी SIP के जरिये निवेश करना चाहिये, जिससे एक बड़ी रकम जमा हो जायेगी।

यह निर्भर करता है आपकी आय और आपके मासिक खर्चों के ऊपर, कि आप कितना रुपया म्यूचुअल फंड में बच्चों के लिए बचा सकते हैं और एसआईपी निवेश करने का सबसे बढ़िया तरीका है।

अब हम बात करेंगे कि कौन-कौन से खर्चे बच्चों के लिए बड़े होते हैं और क्यों अभिभावकों को बचत शुरू करनी चाहिये?

निवेश कब करना शुरू करें ?

हमेशा कहा जाता है कि जितनी जल्दी आप निवेश करने की शुरुआत करेंगे, उतना ही ज्यादा आपको फायदा होगा। जब आप छोटी अवधि के लिए निवेश करना चाहते हैं तो आप डेब्ट या बैलेंस फंड में निवेश करें। मतलब कि अगर आप अपने बच्चे के स्कूल के लिए प्लान कर रहे हैं तो आपको 3 से 5 साल के अंदर ही पैसा चाहिये होगा उसके लिए आप डेब्ट या बैलेंस फंड में निवेश करें, जहां से लगभग 7 से 8% का रिटर्न मिलने की उम्मीद रहती है।

जब आप अपने बच्चे की उच्च शिक्षा के लिए धन इकट्ठा करते हैं तो इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करें। हाँ मगर आपको यह ध्यान रखना होगा कि आपको यह निवेश कम से कम अगले 10 से 15 साल के लिए करना होगा।

आपको हमेशा ही नियमित अंतराल पर निवेश करते रहना चाहिये, अधिकतर भारतीय परिवारों में बच्चों को किसी न किसी रूप में पैसे मिलते ही रहते हैं, उन पैसों को बच्चों को देने की जगह बच्चों के नाम पर ही म्यूचुअल फंड में निवेश कर देना चाहिये। अगर इक्विटी म्यूचुअल फंड में निवेश करेंगे, तो ज्यादा फायदा होगा। सही म्यूचल फंड में निवेश करने का सही निर्णय लंबी अवधि में आपको वित्तीय फायदा जरूर देगा, क्योंकि इस प्रकार के अवसर कभी कभार ही आते हैं और इस प्रकार कई वर्षों तक इसी तरीके से अगर पैसे का निवेश करते रहे तो यह भी एक बड़ी रकम हो जाती है जब बच्चा बड़ा होता है।

सही प्लान को चुनिये

आपके निवेश यानि कि आपके पोर्टफोलियो में जितने कम जोखिम वाले फंड हों उतना अच्छा है, अगर आप छोटे समय के लिये निवेश कर रहे हैं। किंतु अगर आप छोटी छोटी रकम बहुत से इक्विटी डाईवर्सिफाईड, मिड कैप और स्मॉल कैप फंड में निवेश करते हैं तो आपको लंबी अवधि में ज्याादा फायदा होगा।

अगर आप की जोखिम लेने की क्षमता थोड़ी ज्यादा है तो आपको मिडकैप और स्मॉलकैप फंड में ज्यादा निवेश करना चाहिये। छोटी अवधि के लिये आप लिक्विड फंड में निवेश करिये, न कि लार्जकैप, मिडकैप या स्मॉलकैप फंड में, और जब भी आप को संशय होता है तो आप किसी भी वित्तीय विशेषज्ञ से बात करके समझ सकते हैं।

महत्वपूर्ण यह समझना है कि जो आपकी लंबी अवधि के गोल हैं उसके लिए आपको एक निश्चित रकम का निवेश करना है जो कि आपके लक्ष्य को प्राप्त करने में सहायक होगी।

सही तरीके से गणना करें

शिक्षा दिन-ब-दिन महंगी होती जा रही है, वहीं अभिभावक अपने बच्चों के लिए बचत करने में कई चीजों का ध्यान रखते हैं, कई खर्चों का ध्यान रखते हैं, उनके बचपन से ही जैसे की ट्यूशन फीस, स्कूल की फीस, किताबें, यात्रा खर्च इत्यादि और सबसे बड़ी एक ध्यान रखने की बात है वह है जीवन स्तर यानि कि लाईफ स्टाईल, शादी इत्यादि। जब भी आप शिक्षा खासकर उच्च शिक्षा के लिए खर्च की गणना करेंगे तो भारत में इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिये की लंबी अवधि के निवेश में आप मुद्रास्फीति की दर को मात दे पायें। शिक्षा के क्षेत्र में मुद्रास्फीति की दर 8 से 10% है अगर आपका बच्चा मेडिसिन पढ़ना चाहता है तो अभी उसका खर्च 50 लाख से 75 लाख रुपये है, अगले 10 से 12 साल के बाद यही रकम 1.50 करोड़ को पार कर सकती है। इसको ध्यान रखते हुए एक निश्चित रकम आप इक्विटी म्यूचुअल फंड में हर महीने निवेश करते रहें।

इसके लिए बहुत सारे ऑनलाइन केलकुलेटर उपलब्ध हैं, जो कि आपको आने वाले ख़र्चों के बारे में सही प्रकार से बता सकते हैं कि आपको कितने रुपए हर महीने निवेश करना चाहिये, किसी भी लक्ष्य को पाने के लिये, सबसे पहले आप अपने लक्ष्य को निश्चित कर लें, उसके बाद में उसकी भविष्य की कीमत निकाल लें और उसके बाद उस कीमत को पाने के लिए आज से ही मासिक रूप से निवेश करना शुरू कर दें।

उम्मीद है कि आपको बच्चों के भविष्य के लिये म्यूचुअल फंड में कैसे निवेश करना है, समझ आ गया होगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *