केवायसी क्या होता है ?

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

केवायसी क्या होता है ?

KYC याने की अपने ग्राहक को जानना, वैसे तो जिस बैंक या वित्तीय संस्था में आप लेन देन करते हैं, वहाँ आपको सब जानते हैं, पर अगर किसी और जगह आप वित्तीय लेनदेन करने जायेंगे तो वे आपको नहीं जानते, तो सभी वित्तीय संस्थान आपको जाने कि आपकी उम्र कितनी है, आपकी आज कितने रकम रखते हैं, जिससे वे आपको उपयुक्त बातें बता पायें, अगर आप कोई बड़ी रकम जमा कर रहे हैं तो उन्हें कोई ऐतराज नहीं होगा क्योंकि उन्हें केवायसी से पता चल जायेगा कि आप इतनी रकम जमा कर सकते हैं और किसी तरह की गलत कमाई का पैसा यहाँ जमा नहीं कर रहे हैं।

केवायसी का मतलब होता है अपने ग्राहक को जानने की प्रक्रिया।

सेबी ने हवाला निरोधक एक्ट 2002 के अतर्गत दिशा निर्देश दिये हैं, जिससे कि सारे वित्तीय संस्थान और मध्यवर्ती संस्थानों जैसे कि म्यूचयल फंड को अपने ग्राहक से परिचित होना जरूरी है, इसे ही केवायसी का नाम दिया गया है।

केवायसी प्रक्रिया से हवाला और सन्देहजनक ट्रांजेक्शन को रोकने में मदद मिलती है।

केवायसी की प्रक्रिया ऑफलाईन होती है, याने कि आपको फॉर्म भरकर वित्तीय संस्थान याने कि बैंक या फिर cams के कार्यालय में जमा करवाना होता है।

आप अब हमारे वीडियो यूट्यूब चैनल फाईनेंशियल बकवास पर भी सुन सकते हैं। नये वीडियो को अपने ईमेल में पाने के लिये सब्स्क्राईब बटन पर क्लिक करें।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *