नये जमाने के वित्तीय उत्पादों में निवेश करें, परंपरागत निवेश उत्पादों को छोड़ें

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

परंपरागत निवेश उत्पादों से हटकर आज के वित्तीय उत्पादों में बच्चों के भविष्य के लिये निवेश करना होगा। बच्चे निष्कपट होते हैं, और वे सभी बातों पर यकीन कर लेते हैं जो उनको कही जाती हैं और वही उनके मानस में अंकित हो जाता है। जब आप अपने बच्चों के लिये निवेश करें तो आप ध्यान रखें कि आप ऐसा न करें, आप परंपरागत निवेश के उत्पादों से हटकर आज के वित्तीय उत्पादों में निवेश करें। परंपरागत निवेश से अब आप अपने बच्चों का भला नहीं कर सकते हैं, क्योंकि उनका रिटर्न बहुत ही कम होता है और मुद्रास्फीति उस रिटर्न के बराबर ही होती है।

उदाहरण के लिये आपने १०० रूपये ५ वर्ष पहले निवेश किये थे, जिस पर आपको ८% का ब्याज मिल रहा था, परंतु अगर आप देखें तो मुद्रास्फीति भी लगभग बराबर ही रही, कई बार तो ब्याज दर से भी ज्यादा रही, तो जब आपको आपका १०० रूपया ब्याज के साथ मिलेगा, वह आज के १०० रूपये के बराबर नहीं, बल्कि बहुत कम होगा, आपने ५ वर्ष अपने रूपयों को निवेश भी किया, परंतु उसका कोई फायदा भी नहीं हुआ, तो ऐसे परंपरागत निवेशों से हमें बचने की आवश्यकता है, जहाँ कोई फायदा ही नहीं है, वे दिन गये जब बैंकों में ब्याजदर १० से १५% होती थी, अब तो अधिकतम ब्याजदर ही 7% है।

परंपरागत निवेशों में भरोसा हमें आज के नये वित्तीय उत्पादों में निवेश करने से रोकता है, क्योंकि हमें इसके बारे में सिखाया ही नहीं गया, और न ही हमारे अंदर जोखिम लेने की भावना को लाया गया, हमेशा ही हमें सिखाया गया कि शेयर बाजार में, म्यूचुअल फंड में पैसा डूब जाता है, पर फिक्सड डिपॉजिट सुरक्षित है। फिक्सड डिप़ॉजिट भी सुरक्षित नहीं है, अगर आपको इसके बारे में भी पता चल जाये तो फिर आप क्या करेंगे, ऐसे बहुत से बैंक रहे जो डूब गये और उनमें निवेश किये गये फिक्सड डिपॉजिट का पैसा भी निवेशकों को मिल नहीं पाया। खैर हम सरकारी बैंकों में निवेश कर रहे हैं, तो उनकी हालत भी बहुत अच्छी नहीं है। तो विश्वास किसी पर नहीं किया जा सकता है। मेरी राय में तो आज बैंकों में निवेश शेयर बाजार में निवेश से ज्यादा जोखिम भरा है। कब कौन से बैंक अचानक से बंद हो जायेगा, इसका अनुमान लगाना मुश्किल है

आज के वित्तीय उत्पादों और निवेश पर हमारी मानसिकता को बदलना बहुत जरूरी है और हमें समझना होगा कि निवेश करना कोई बहुत बड़ा रॉकेट साईंस नहीं है, निवेश आप अपने लिये भी और अपने बच्चों के भविष्य के लिये अच्छी तरीके से कर सकते हैं। कुछ और भ्रांतियाँ भी हैं

. जवान लोग निवेश नहीं कर सकते हैं, इसलिये वे अपने अभिभावकों से निवेश में मदद लेते हैं।

. निवेश अमीर लोगों का खेल है, कम रूपयों से निवेश नहीं किया जा सकता है।

. निवेश शुरू करने के लिये आपके पास बहुत सारा पैसा होना चाहिये, म्यूचुआल फंड की SIP ५०० रूपयों से और शेयर बाजार में १ शेयर भी खरीदा जा सकता है, भला उसकी कीमत कुछ हो।

. आपके पास बहुत सारी वित्तीय जानकारी होनी चाहिये, तभी आप एक सफल निवेशक बन सकते हैं।

निवेश जब समझ आ जाये, तब शुरू कर देना चाहिये, इसमें कभी देर नहीं होती। आज समझ आ जाये तो आज से ही निवेश शुरू कर दें।

आप उपरोक्त बातों पर गौर करिये और खुद की तुलना करके देखिये, आपको थोड़ा बहुत तो समझ आ ही जायेगा, आप अपने विचार और सवाल कमेंट करके छोड़ सकते हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *