मल्टीबैगर स्टॉक कैसे ढ़ूँढ़ें How to identify A Multibagger

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

मल्टीबैगर स्टॉक कैसे ढ़ूँढ़ें, मल्टीबैगर स्टॉक ढ़ूँढ़ने के लिये मेहनत करना होती है, मल्टीबैगर स्टॉक मतलब कि आपको अपने निवेश पर छप्पर फाड़ लाभ मिले और फिर निवेश के बाद उसको समय भी देना होता है –

कुछ उदाहरण (एक किताब से लिये गये हैं )

  1. 15 साल पहले 2001 में एक सेवानिवृत्त स्कूल टीचर ने अपने सेवानिवृत्ति का अधिकतम धन आईशर मोटर्स के शेयर जो 19 रूपये पर थे, उसमें लगाया। आईशर मोटर्स जिसका जबरदस्त उत्पाद है रॉयल एनफील्ड बुलैट । अक्टूबर 2016 में यह स्टॉक 25,773 रूपयों पर ट्रेड कर रहा था, उनको फायदा हुआ 1356 गुना रूपयों का, उन्होंने केवल 1 लाख रूपया 2001 में निवेश किया था और अक्टूबर 2016 में उनको वापिस पैसा मिला 1355.48 करोड़ रूपये।

  1. 10 साल पहले एक बंदे ने सिम्फनी जो कूलर वगैरह बनाती है उसके शेयर 1.33 रूपये के भाव में 5 लाख रूपये निवेश किये थे। तब उनके मित्र जो कि शेयर ब्रोकर भी थे, उन्होंने कहा था कि ये पैसे कहीं और लगाओ डूब जायेंगे, पर वे नहीं माने और सिम्फनी कंपनी पर विश्वास किया। आज सिम्फनी का शेयर 1166 रूपये चल रहा है, तो उनको लाभ कम से कम 4013.25 करोड़ रूपयों का हो रहा है।
  1. 5 वर्ष पहले एक नौकरीपेशा ने अपनी मेहनत की कमाई के पैसे जो कि मकान खरीदने के लिये निवेश में से निकाले थे, और बहुत सोच विचार कर ये पैसे उन्होंने इंडो काऊँट नामक कंपनी में 9.60 रूपये के हिसाब से निवेश कर दिये। उनका यह निवेश आज लगभग 85 गुना हो चुका है, आज इंडो काऊँट का भाव 818 रूपये हो चुका है।

तो ध्यान रखें शेयर बाजार में निवेश बहुत सोच समझकर, समय देकर करें, पढ़ें। स्टॉक खुद से आगे आकर बतायेगा कि मुझे ले लो।

कंपनी की बैलेन्स शीट देखें, बाजार में कंपनी के विज्ञापन देखें, कंपनी कैसा काम कर रहीे है, अपने आप ही पता चल जायेगा। जो कंपनी बाजार में ज्यादा दिखे या ऐसा लगे कि अब यह कंपनी के उत्पाद बाजार में अच्छे जम रहे हैं, उनके शेयर खरीदने में देर न करें।

बहुत सी कंपनियों में उत्पाद अच्छे होते हैं परंतु चलाने वाला प्रबंधन नहीं, जब किसी कंपनी में प्रबंधन बदल जाये तो वे अपने आप ही अच्छा करने लगते हैं, आज सुबह ही एक मित्र से बात हो रही थी, तो वे बता रहे थे कि इंडसइंड बैंक जब 65 रूपये पर ट्रेड करता था, तब प्रबंधन बदला था और एबीएन एमरो का प्रबंधन पूरा का पूरा यहाँ आ गया था, तो आज शेयर का भाव 1200 रूपये छू रहा है।

आप ऊपर दिये गये तीन उदाहरणों में देख सकते हैं कि तीनों निवेशक ने जोखिम लिया और इसके एवज में उनको बेहतरीन लाभ भी मिला। कई लोग इसे किस्मत का खेल मानते हैं तो कई लोग इसको दिमाग का खेल मानते हैं। शंकर शर्मा कहते हैं कि शेयर बाजार में 90 प्रतिशत किस्मत और 10 प्रतिशत ट्रिक याने कि बुद्धि का खेल है। तो जो शेयर आप लंबे समय के निवेश के लिये चुन रहे हैं, वह अगर डर्बी घोड़ा साबित हुआ तो वारे न्यारे हो जाते हैं।

ध्यान रखें जब भी निवेश करें तो हमेशा निवेश को बाजार में बढ़ने के लिये समय दें, समय भी कम से कम 5-10 वर्ष देना चाहिये। शेयर में निवेश करने से पहले क्या चीजें किसी भी कंपनी में जरूर देखनी चाहिये, यह जान लेना बेहद जरूरी है –

मल्टीबैगर स्टॉक में क्या देखें –

  1. कंपनी ने कितने ऋण ले रखे हैं।
  2. कंपनी का व्यापार कितना बढ़ सकता है।
  3. कंपनी का प्रबंधन अच्छा हो।
  4. कंपनी का लाभ सतत अच्छा हो और प्रति शेयर लाभ भी।
  5. कंपनी कितना और कमा सकती है और कितना अच्छा बाजार में कर सकती है। याने कि कुछ नये उत्पाद बाजार में हों जो कि जगह बनाकर कंपनी का बिजनेस बढ़ायेंगे।
  6. कंपनी के शेयर आसानी से खरीदने वाले न मिलें और कंपनी बहुत प्रसिद्ध न हो।

माईक्रो कैप और स्मॉल कैप से ही अच्छे रिटर्न मिलने की संभावनायें होती है, क्योंकि ये कंपनियाँ छोटी होती है और ये कंपनियाँ ही बाजार में कुछ नया करने की क्षमता रखती हैं, जो कंपनियाँ पहले ही जम चुकी हैं वे नया करने के लिये बहुत सोचती हैं और उतना जोखिम नहीं उठाती हैं, परंतु छोटी कंपनियाँ जो कि 10 करोड़ से 1000 करोड़ तक की होती हैं, वे तगड़ा जोखिम उठाकर अच्छा मुनाफा कमाने का माद्दा रखती हैं। उस समय उनकी बैलेन्स शीट से उसके भविष्य का अंदाजा लगाना बहुत ही मुश्किल होता है।

उदाहरण के तौर पर मान लीजिये कि कोई छोटी कंपनी जो 50 करोड़ की है तो उसके बढ़ने की अपार संभावना हैं, क्योंकि वे अच्छा काम कर रही होती हैं और उनके लाभ दोगुना तिगुना हो सकते हैं, उनको कोई एक बड़ा सा ऑर्डर 200-300 करोड़ का मिल गया तो वे एकदम से 5-6 गुना बढ़ जाती हैं।

अपने सुनहरे भविष्य के लिये जिस कंपनी में आपको अपार संभावना लगती हो, उसमें लंबी अवधि के लिये निवेश करें और बाजार को पढ़ते रहें। बैंक में या घर में पैसा लगाने से कोई निवेशक कभी इतना पैसा नहीं बना सकता। बैंक में 5 वर्ष में पैसा दोगुना नहीं हो सकता वहाँ आपको आयकर भी देना होगा, परंतु अगर बाजार में निवेश करते हैं तो आपको 1 वर्ष के निवेश के बाद आयकर भी नहीं देना होता है और किसी बड़े स्टॉक में भी 5 वर्ष में निवेश दोगुना होने की संभावना ज्यादा होती है।

निवेश के मूलमंत्र को ध्यान रखें – अपने निवेश को लंबे समय तक बाजार में निवेशित रहने दें और धैर्य रखें। मल्टीबैगर स्टॉक में आपको समय देना होता है, कभी भी निवेश से हुए लाभ को निकालने में जल्दबाजी न करें।

2 thoughts on “मल्टीबैगर स्टॉक कैसे ढ़ूँढ़ें How to identify A Multibagger

    • ये तो स्टडी का विषय है, वही तो हमने लिखा है कि खुद ही बाजार को पढ़ने के लिये समय दें और ढ़ूँढ़ें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *