जब बैंक डिमांड ड्राफ्ट बनाने को मना करे (When Bank is not ready to issue Demand Draft)

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

    डिमांड ड्राफ्ट पहले हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा होता था, पर जब से ऑनलाईन ट्रांसफर की सुविधा बैंकों ने देनी शुरू की है तब से डिमांड ड्राफ्ट का उपयोग बहुत ही कम हो गया है। सरकारी कामकाज में अभी भी डिमांड ड्राफ्ट का चलन धड़ल्ले से हो रहा है, सरकार या तो अपने खातों को अपने कर्मचारियों को अपने खातों के बारें में जानने नहीं देना चाहती है या फिर सरकार को अपने कर्मचारियों पर विश्वास नहीं है या फिर नये भुगतान के तरीकों पर पारम्परिक तरीके भारी पड़ रहे हैं।

    हम HDFC Bank की नजदीकी शाखा से अपना डिमांड ड्राफ्ट बनवाने गये तो हमें पता चला कि बिना चेकबुक के आजकल HDFC Bank डिमांड ड्राफ्ट नहीं बनाता है, हमने कहा कि हमारी चेकबुक आज ही खत्म हुई है, और आपका बैंक चेकबुक डिलीवरी करने में कम से कम 3 दिन का समय लगाता है । हमने कहा कि आप नगद या ट्रांसफर से हमारा डिमांड ड्राफ्ट बना दीजीये, हमें कहा गया कि डिमांड ड्राफ्ट को केवल चेक के होने पर ही जारी किया जा सकता है, हमने कहा कि ऐसा कोई नियम तो भारतीय रिजर्व बैंक ने नहीं बनाया है। तो हमें कहा गया कि यह बेस्ट बैंकिंग कोड प्रेक्टिस के तहत है। हमने उनके बैंक के बोर्ड पर यह बेस्ट बैंकिंग कोड प्रेक्टिस ढ़ूँढ़ने की बहुत कोशिश की, पर हमें कहीं भी नहीं दिखा, फिर एक बोर्ड पर जहाँ डिमांड ड्राफ्ट के बारे में कुछ लिखा था, वहाँ पर भी स्थिती साफ नहीं थी।

    हम बैंक मैनेजर के पास गये और कहा कि हमें केवल 200 रू. का एक डिमांड ड्राफ्ट बनवाना है और आपका स्टॉफ हमें कह रहा है कि यह बेस्ट बैंकिंग कोड प्रेक्टिस के तहत नगद और ट्रांसफर से नहीं बन सकता है, और आपके ब्रांच में कहीं भी बेस्ट बैंकिंग कोड प्रेक्टिस का कोई बोर्ड भी नजर नहीं आ रहा है। न ही कहीं बैंक की वेबसाईट पर ऐसा लिखा हुआ है कि नकद या ट्रांसफर से डिमांड ड्राफ्ट नहीं बनाया जायेगा। मैनेजर ने हमारी बातें सुनी और कैशियर को कहा कि आप पहले बैंक की टीम से एक अपवादात्मक स्वीकृति ले लें और अगर स्वीकृति आ जाती है तो ट्रांसफर से इनका डिमांड ड्राफ्ट बना दीजिये, पता नहीं क्या हुआ 1 मिनिट बाद ही हमें बुलाकर ट्रांसफर से डिमांड ड्राफ्ट बना दिया गया।

कुछ विशेष बातें –

  1. बैंक ने बेस्ट बैंकिंग कोड प्रेक्टिस का बोर्ड पर कहीं भी प्रदर्शन नहीं कर रखा था।
  2. बेस्ट बैंकिंग कोड प्रेक्टिस पर कोई पारदर्शिता नहीं है।
  3. डिमांड ड्राफ्ट नगद से भी बन सकता है यह हमने भारतीय रिजर्व बैंक की वेबसाईट पर पढ़ा। जो कि आप इस लिंक पर 12.2.1 सेक्शन के अंतर्गत पढ़ सकते हैं।
  4. HDFC Bank की पूरी वेबसाईट ढ़ूँढने के पश्चात भी हमें इस बारे में कोई जानकारी नहीं मिल सकी।
  5. जब भी ऐसी कोई भी स्थिती उत्पन्न हो आप सबसे पहले बैंक से उनके नियम की जानकारी देने वाली पुस्तिका माँगे नहीं तो सीधे ईमेल लिखकर बैंक से अपना विरोध दर्ज करवायें।

हमने ट्विटर पर HDFC Bank Customer Care से संपर्क साधा और पूछा –

 Demand Draft Conversation with HDFC Bank on Twitter

Translated by Translate.google.com

DD was already an integral part of our lives, at the convenience of the online banks have to transfer is initiated by the use of DD is very short. are overshadowed by conventional methods.

We nearest branch of HDFC Bank building then we found out that my DD HDFC Bank DD nowadays makes no checkbook, we concluded that our checkbook is today, and at least your bank checkbook delivery If it takes 3 days. We said that you made in cash or transfer Dijiye our DD, we were told that DD can only be issued when the Czech‘s, we have a rule that if it is not made by the Reserve Bank. Then we were told that the best practice is under the banking code. We on the board of the bank tried to find the best banking code of practice, but we do not show anywhere, then wrote something on the board where the demand draft, there was not even clean condition.

We went to the bank manager and said we only Rs 200. To make a demand draft of your staff is telling us that the best banking code of practice under the cash and can not be transferred, and the best anywhere in your Branch Banking Code of Practice does not see a board. It was not written on the bank‘s website that will be made in cash or demand draft to transfer. The manager told us that you first heard the cashier of the bank’s team to take an exceptional acceptance and if there is the acceptance of transfer, please make their DD, we do not know what happened after 1 minute of call transfer DD been made.

Certain things

Banking Code of Best Practice Bank had not performed anywhere on the board.
There is no transparency in the banking code of Best Practice.
Demand Draft Cash also can be read on the website of Reserve Bank of India. Under section 12.2.1 which you can read at this link.
HDFC Bank to look after the whole website, we could not find any information about it.
Any such situation may occur when you know the rules to guide the first bank to ask them to email or write directly Krwayen his opposition to the bank.

We approached and asked HDFC Bank Customer Care on Twitter

16 thoughts on “जब बैंक डिमांड ड्राफ्ट बनाने को मना करे (When Bank is not ready to issue Demand Draft)

  1. बैंक के मैनेजरों को कई तरह की आचार संहिता पता नहीं होती। धूल में लठ मार रहे होते हैं और चाहते हैं कि ग्राहक जितनी जल्‍दी भाग जाए और परेशान होकर दूसरी ब्रांच भटकता रहे वह अच्‍छा है। जयपुर में विद्याधरनगर में एक्सिस बैंक की ब्रांच शनिवार को डिमेट डिलीवरी का इंस्‍ट्रक्‍शन नहीं लेती। लो कर लो बात। इस ब्रांच में आप डिमैट के काम से चले जाए तो रो धोकर ही लौटेंगे।

  2. मेने पॆसा तो जमा कर दिया लेकिन कह रहे हॆ आपको डिमांड ड्राफ्ट शाम ४ बजे मिलेगा
    कृपया बताए बॆंक ड्राफ्ट बनवाने मे कितना समय लगेगा

    • साधारणतया: बैंकों में हरेक सुविधा के लिये लगने वाले समय की तालिका लगी होती है, ड्राफ्ट के लिय समय सीमा 10 मिनिट निर्धारित है।

  3. सरकारी के बाद प्राइवेट बैंक भी काम करने में रोने लगे हैं। सरकारी बैंकों में कहते हैं सीधे सीधे काम नहीं होगा। प्राइवेट बैंक में एक कन्‍या कहेगी सॉरी सर। मैं आपकी बात समझ रही हूं, लेकिन यह नहीं हो सकता। आपको जो दिक्‍कत हुई उसके लिए खेद है। लो नहीं हुआ आपका काम। बस बात करने का तरीका अलग अलग हैं लेकिन काम नहीं होगा। रोते रहो बैंक को।

    • कमल जी, प्राईवेट बैंकों में अगर आप थोड़ा सा बात करें तो बात बन जाती है, परंतु आजकल सरकारी में भी ऐसा ही है। काम तो हो ही जाता है।

    • बैंक जब डीडी इश्यू करता है तो उसे अगर आप कैंसल करवाना चाहते हैं तो आपको डीडी के साथ कैंसल करने का फॉर्म बैंक को भरकर देना होता है, अगर डीडी आप फॉर्म नहीं लगायेंगे तो बैंक डीडी कैंसल नहीं करेगा।

  4. Bank dimand drapt nahi bna rha h kya kru bhi plz help me adik hi nessury kam pr bank kieser bola ki other bank jyie

  5. Mai ye Janna chahti hu AGR kisi ka ma’am ka dd usko n mile to kya koi or us dd KO use kr skta h. Koi or kisi or ke dd ka paisa le skta h kya

    • आप का प्रश्न साफ तो नहीं है, परंतु जो समझ आया –

      कि डीडी किसी और को मिल गया तो वह पैसा ले सकता है या नहीं

      अगर समान नाम से ही किसी और का खाता है तो और डीडी पर एकाऊँट नंबर नहीं लिखा है तो वह डीडी समान नाम वाले खाते में भुनाया जा सकता है, परंतु अगर डीडी पर खाता नंबर लिखा है तो वह डीडी केवल उसी खाते में भुनाया जा सकता है।

  6. Sbi bank से dd कितने दिनो में बन जाती है । खाता भी sbi में है।

    • डीडी तो जिस दिन आप देंगे उसी दिन बन जायेगा, कितने समय में बनेगा वह समय आप वहीं ब्रांच में लगे बोर्ड पर देख सकते हैं, समय शायद 1 घंटा है।

  7. spelling galti ho jane kya dd accept nhi hoti hai ,example jaise-principal ka principle ho gya hai

  8. principal govermant polytechnic ki jagah principle govermant polytechnic ho gya hai dd accept ho ki nhi

    • जी आप डीडी केंसल करवाकर वापिस से बनवा लें अगर आपके पास है, और अगर संस्थान ने डीडी ले लिया है, तो कई बार बैंकें इस तरह की गलतियों को नजरअंदाज भी कर देती हैं।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *