Are you ready for less interest rates कम ब्याज दर के लिये तैयार हैं?

Are you ready for less interest rates कम ब्याज दर के लिये तैयार हैं? जो लोग अभी तक अपनी बचत को बैंक में या फिर छोटी बचत की योजनाओं में निवेश कर रहे थे, उनके लिये ये बुरे दिन हैं, और वे अब बहुत बड़ी परेशानी का सामना कर रहे हैं, क्योंकि आजकल बैंकों में […]
Continue reading…

 

म्यूच्यूअल फंड्स पर कैपिटल गेन्स टैक्सेस का प्रभाव

यूनियन बजट, २०१७ में वित्त मंत्री ने लांग टर्म कैपिटल एसेट के इंडेक्सेशन लाभ के आधार अवधि अर्थात बेस पीरियड को 1 अप्रैल, १९८१ से बढ़ाकर 1 अप्रैल, २००१ कर दिया है जिसके प्रभाव की चर्चा हम आगे इस लेख में करेंगे | इसके अलावा म्यूचुअल फंड योजना के विलयन अर्थात मर्जर को कर मुक्त […]
Continue reading…

 

अगर 5 लाख रूपये की ब्याज से आय है तो 15H फॉर्म भर सकते हैं ?

अगर 5 लाख रूपये की ब्याज से आय है तो 15H फॉर्म भर सकते हैं ? आज ही एक बंदे से मिला तो बातों ही बातों में उसने पूछा कि उसके पिताजी को बैंक के फिक्सड डिपॉजिट के ब्याज से आय लगभग 5 लाख रूपये होती है और वे आयकर की धारा 80 C के […]
Continue reading…

 

बीच में ही अपनी जीवन बीमा पॉलिसी को बंद करना चाहते हैं ?

बीच में ही अपनी जीवन बीमा पॉलिसी को बंद करना चाहते हैं, तो आपके लिये जानना जरूरी है कि आपको आयकर भरना होगा। वैसे जीवन बीमा पॉलिसी के सरेंडर के समय भुगतान की रकम पर कर के लिये अलग से कुछ बताया नहीं गया है। एक आयकर में बचत के लिये इस बात का जान […]
Continue reading…

 

सेवानिवृत्ति के बाद भी क्या ELSS में निवेश जारी रखना चाहिये ?

सेवानिवृत्ति के बाद भी क्या ELSS में निवेश जारी रखना चाहिये ? ELSS याने कि Equity Linked Saving Schemes आयकर की धारा 80 C में एकमात्र ऐसा उत्पाद है जिसका लॉकइन समय सबसे कम है, याने कि केवल 3 वर्ष बाकी के उत्पादों याने कि PPF, NSC, FD के लॉकइन समय 5 वर्ष या इससे […]
Continue reading…

 

ELSS याने कि Equity Linked Savings Scheme आयकर की धारा 80C में सबसे अच्छा उत्पाद

ELSS का नाम तो लगभग सभी लोगों ने सुना होगा, परंतु सभी को इसके बारे में बहुत कुछ पता नहीं होगा, केवल यह जानते होंगे कि इसके खरीदने से 80 सी में आयकर बचा सकते हैं। ELSS एक प्रकार का डाईवर्सीफाईड इक्विटी म्यूचयल फंड है जो कि आयकर की धारा 80C के अंतर्गत छूट प्रदान […]
Continue reading…

 

जीवन बीमा प्लॉन कितने प्रकार के होते हैं

जीवन बीमा प्लॉन कितने प्रकार के होते हैं – सभी लोग जीवन बीमा लेते हैं, परंतु उन्हें पता ही नहीं होता है कि जीवन बीमा कितने प्रकार के होते हैं और उसके बीच क्या अंतर होता है। यहाँ आप संक्षेप में विभिन्न प्रकार के बीमा प्लॉन के बारे में समझ पायेंगे। टर्म लाईफ पॉलिसी (Term […]
Continue reading…

 

NPS सेवानिवृत्ति को सुखी और सुरक्षित बनाये।

NPS सेवानिवृत्ति को सुखी और सुरक्षित बनाये। जैसे जैसे हम सेवानिवृत्ति की और बढ़ते जाते हैं, उसके साथ ही हम एक अच्छीखासी रकम बनाते जाते हैं, जिससे कि हम वृद्धावस्था को सुखी और सुरक्षित रख सकें। जब आप वृद्धावस्था में पहुँच जायेंगे तब आपके पास ऐसी वित्तीय सुरक्षा होनी चाहिये जिससे कि आप अपना बुढ़ापा […]
Continue reading…

 

HRA में छूट के लिये पत्नी को किराया देना

सावधान अगर आप अपनी पत्नी को किराया देते हैं तो अगर आप अपनी पत्नी को किराया देते हैं तो आप HRA या 80GG के तहत छूट नहीं ले सकते हैं, भले ही आपके पास उसकी रसीद हो। इस तरह के बहुत से केस आयकर विभाग में आये हैं जहाँ पर पत्नी अपनी किराये की आमदनी […]
Continue reading…

 

आयकर विभाग शिकायतों के समाधान के लिये ई-निवारण लेकर आया

ई-निवारण आयकर विभाग ने शिकायतों के समाधान के लिये, इलेक्ट्रॉनिक तरीके से शिकायतों को निपटाने के लिये ई-निवारण नाम से नया सिस्टम उतारा है, ई-निवारण से बेहद तेजी से आयकरदाताओं को शिकायतों को सुना जायेगा और सुनिश्चित किया जायेगा कि जल्दी से जल्दी उनकी शिकायतों का निराकरण कर दिया जाये।
Continue reading…