ज्यादा कमाई नहीं है तो बचत कैसे करें, आपको तो निवेश भी करना है

ज्यादा कमाई नहीं है तो बचत कैसे करें, आपको तो निवेश भी करना है। Not enough income, how to start savings, need to start Investments for the future. बचत और निवेश तभी शुरु नहीं करना चाहिये जबकि आपने अपने जीवन के लंबी अवधि के लक्ष्य निर्धारित कर लिये हों जैसे कि घर खरीदना, बच्चों की […]
Continue reading…

 

भारत की वित्तीय एवं निवेश उद्योग को समझें – मुद्रा, वित्तीय परिसंपत्तियाँ, प्रतिभूतियाँ Indian Financial and Investment Industry Money

Basic Concept – वित्तीय तंत्र बाजार और संस्थाओं का जाल होता है, जो कि अर्थव्यवस्था में धन को सभी विभागों तक पहुँचाते हैं। विभिन्न विभागों में धन संचार कई तरीकों से होता है जैसे मुद्रा (Money), वित्तीय पूँजी, प्रतिभूतियाँ (डेब्ट, इक्विटी)। सबसे पहले हम इन बुनियादी बातों को समझते हैं, जो कि हमें इस वित्तीय […]
Continue reading…

 

सेवानिवृत्ति के बाद भी क्या ELSS में निवेश जारी रखना चाहिये ?

सेवानिवृत्ति के बाद भी क्या ELSS में निवेश जारी रखना चाहिये ? ELSS याने कि Equity Linked Saving Schemes आयकर की धारा 80 C में एकमात्र ऐसा उत्पाद है जिसका लॉकइन समय सबसे कम है, याने कि केवल 3 वर्ष बाकी के उत्पादों याने कि PPF, NSC, FD के लॉकइन समय 5 वर्ष या इससे […]
Continue reading…

 

ELSS याने कि Equity Linked Savings Scheme आयकर की धारा 80C में सबसे अच्छा उत्पाद

ELSS का नाम तो लगभग सभी लोगों ने सुना होगा, परंतु सभी को इसके बारे में बहुत कुछ पता नहीं होगा, केवल यह जानते होंगे कि इसके खरीदने से 80 सी में आयकर बचा सकते हैं। ELSS एक प्रकार का डाईवर्सीफाईड इक्विटी म्यूचयल फंड है जो कि आयकर की धारा 80C के अंतर्गत छूट प्रदान […]
Continue reading…

 

आयकर में छूट पाने के लिये सही जगह निवेश करें

आयकर में छूट पाने के लिये हम जीवन भर निवेश के बारे में योजना बना सकते हैं, पर अगर एक बार आप तैयार हो जायें तो योजना की मनोस्थिती से बाहर आकर निवेश करना शुरू करें। हमेशा योजना की मनोस्थिती में रहना भी ठीक नहीं, कभी न कभी तो योजना पर अमल करना भी जरूरी […]
Continue reading…

 

KYC Compliance म्यूचयल फंड या बाजार में निवेश के लिये जरूरी है।

  अगर आप म्यूचयल फंड या बाजार में याने कि सीधे स्टॉक, बॉन्ड या कमोडिटी में निवेश करना चाहते हैं तो निवेशक को सेबी (SEBI) की जरूरत याने कि Know Your Customer KYC Compliance को पूरा करना होता है। हर व्यक्ति निवेश करना चाहता है परंतु केवल Know Your Customer (KYC) को जटिल प्रक्रिया मानकर […]
Continue reading…

 

क्या आप सुरक्षित आर्थिक जीवन के लिये प्रतिबद्ध हैं ?

    हम कमाते हैं, हम घर के खर्चों को उठाते हैं, बैंक के ऋण की किस्त चुकाते हैं और हमारी बचत बैंक में हो ही रही है। और फिर बाद में हम अपनी कमाई की बचत से सावधि जमा (Fixed Deposit) बनवा लेते हैं और थोड़े समय बाद फिर से एक और बनवा लेते हैं। […]
Continue reading…