DPD (Days Past Dues) क्या है और इसका सिबिल स्कोर और रिपोर्ट पर क्या असर है?

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

DPD (Days Past Dues) का मतलब कि आपने ऋण की किश्त कितनी देरी से भरी है, यह बहुत आम बात है, परंतु जिसने ऋण लिया है उसके लिये बहुत मुश्किल भी है।

आपकी सिबिल रिपोर्ट और सिबिल ट्रांसयूनियन स्कोर आपके वित्तीय अनुशासन के बारे में बैंक को बताता है, यही स्कोर तब बहुत महत्वपूर्ण होता है जबकि आप कोई ऋण या क्रेडिट कार्ड के लिये आवेदन करते हैं। अच्छा सिबिल स्कोर आपकी रिपोर्ट में यह बताता है कि आप अपने ऋण और क्रेडिट कार्ड अच्छे से सँभाल रहे हैं, और आप वित्तीय जानकार हैं।

क्रेडिट रिपोर्ट के लिये एक बहुत ही महत्वपूर्ण कारक, जो कि आपके क्रेडिट स्कोर को भी प्रभावित करता है, वह है DPD (Days Past Dues)। यह जानकारी आपके क्रेडिट रिपोर्ट के एकाऊँट सेक्शन में होती है और बताती है कि आप अपने ऋण या क्रेडिट कार्ड की किश्तों को कितने अच्छे से भर पा रहे हैं। इससे साफ पता चलता है कि आप ऋण की किश्त या क्रेडिट कार्ड के बिल हर माह सही समय पर चुकाते हैं या नहीं। अगर कोई भी किश्त या क्रेडिट कार्ड का बिल किसी महीने में चूक गया, तो कितने दिनों से चूका और कितने महीने चूका, यह बहुत महत्वपूर्ण है।

DPD (Days Past Dues) बताता है कि भुगतान कितने दिन कौन से खाते में देरी से आया।

अगर ‘000’ के अलावा ‘XXX’ कुछ और आपके DPD (Days Past Dues) सेक्शन में आता है तो इसका मतलब यह है कि आपने ऋण की किश्त या क्रेडिट कार्ड का बिल समय से नहीं चुकाया है, और कितनी देरी से चुकाया है, उसके दिन यहाँ दिखने लगते हैं।

आपके पिछले 36 महीने की भुगतान क्रेडिट रिपोर्ट में दिखती है, जिसमें कि अभी वाली सबसे पहले दिखती है, जो कि क्रेडिट रिपोर्ट के एकाऊँट सेक्शन में देख सकते हैं।

DPD (Days Past Dues) को समझने के लिये एक उदाहरण देख लेते हैं –

cibil dpd

इसमें पता चलता है कि DPD (Days Past Dues) से कि ऋणी याने कि बॉरोअर ने अपने ऋण की तीन किश्तें नहीं भरी हैं याने की तीन महीने या 90 दिन भी कह सकते हैं। तो किश्त का भुगतान अप्रैल, मई, जून 2017 में नहीं किया गया है।

मई महीने में एकाऊँट सेक्शन में दिखायेगा कि 30 दिन DPD (Days Past Dues) है, जून में 60 दिन DPD (Days Past Dues) और जुलाई में DPD (Days Past Dues)। जब अप्रैल की किश्त नहीं भरी है तो वह केवल अगले महीने याने कि मई 2017 में ही क्रेडिट रिपोर्ट में दिखेगी।

‘000’ से पता चलता है कि ‘no days past due’ उस महीने में आपकी कोई किश्त बकाया नहीं थी और बताता है कि आपने अपने ऋण की किश्त और क्रेडिट कार्ड का बिल समय से भरा है।

‘XXX’ बताता है कि किसी बैंक या क्रेडिट कार्ड कंपनी ने अभी तक यह जानकारी सिबिल को आपके ऋण या क्रेडिट कार्ड के संबंध में नहीं दी है।

बस यह समझ लीजिये कि अगर ‘000’ या ‘XXX’ के अलावा DPD (Days Past Dues) में कोई और नंबर है तो आपने अपने ऋण की किश्त और क्रेडिट कार्ड के बिल का समय से भुगतान नहीं किया है। इससे क्रेडिट कार्ड देने वाली कंपनियों और ऋण देने क लिये बैंकों को पता चलता है कि ग्राहक समय से भुगतान नहीं करता है और इस ग्राहक को ऋण देना जोखिम का कार्य है।

अगर DPD (Days Past Dues) में कोई भी नंबर है, किसी एक महीने में आपने ऋण की किश्त समय से नहीं भरी तो उसके लिये चिंता करने की बात नहीं है क्योंकि 36 महीने बाद वह आपकी क्रेडिट रिपोर्ट से निकल जायेगा। आप हमेशा ही कोशिश करें कि आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा हो, तो आपको ऋण या क्रेडिट कार्ड के अच्छे ऑफर मिलते रहेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *