ELSS याने कि Equity Linked Savings Scheme आयकर की धारा 80C में सबसे अच्छा उत्पाद

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

ELSS का नाम तो लगभग सभी लोगों ने सुना होगा, परंतु सभी को इसके बारे में बहुत कुछ पता नहीं होगा, केवल यह जानते होंगे कि इसके खरीदने से 80 सी में आयकर बचा सकते हैं। ELSS एक प्रकार का डाईवर्सीफाईड इक्विटी म्यूचयल फंड है जो कि आयकर की धारा 80C के अंतर्गत छूट प्रदान करता है। ELSS में निवेश करने के दो फायदे हैं पहला तो आपको आयकर की धारा 80C के तहत छूट मिल रही है और दूसरा आपकी रकम तेज गति से बाजार में बड़ेगी। पर ध्यान रखें कि बाजार आधारित निवेश हमेशा ही लाभ नहीं देता है, बाजार से नुक्सान भी हो सकता है। ELSS में निवेश करने पर आपको 3 वर्ष का लॉकइन है, मतलब कि आप 3 वर्ष तक ELSS से पैसा निकाल नहीं सकते हैं।

क्यों ELSS में निवेश करें –

कर में छूट प्राप्त करने के लिये ELSS याने कि Equity Linked Savings Scheme आयकर की धारा 80C में सबसे अच्छा उत्पाद है और इस निर्णय से आपको अपने निवेश पर बाजार आधारित अच्छे लाभ भी मिलने की संभावना हमेशा ही रहती है। लंबे समय तक निवेशित रहने के लिये इस पर हुए लाभ पर आपको आयकर भी देय नहीं होता है। किसी और उत्पाद जो कि आयकर की धारा 80C के अंतर्गत आते हैं, ELSS में सबसे कम समय का लॉकइन होता है। अन्य उत्पादों में 5 वर्ष तक आप निवेश निकाल नहीं सकते हैं और उन पर मिला ब्याज भी कर के अधीन होता है।

आयकर की धारा 80C में निवेश के लिये आपको कम से कम 500 रू की बचत करना होती है और अधिकतम की कोई सीमा तय नहीं है, परंतु 80C के तहत आपको केवल 1,50,000 रू पर ही छूट मिलेगी। इस पर मिलने वाले डिविडेन्ड और लाभ पर कैपीटल गैन टैक्स नहीं लगेगा। इस निवेश में ध्यान रखने की बात यह है कि इसमें जोखिम ज्यादा है।

अगर अन्य उत्पाद 80C के अतर्गत लॉकइन देखें तो –

बैंक की मियादी जमा – 5 वर्ष

पोस्टऑफिस की मियादी जमा – 5 वर्ष

एनएससी – 6 वर्ष

पीपीएफ – 15 वर्ष (6 वर्ष बाद कुछ रकम निकाल सकते हैं)

अन्य उत्पादों में निवेश पर जोखिम नहीं है, परंतु वहाँ ज्यादा लाभ की संभावना भी नहीं है और लगभग सभी मिला ब्याज कर के अधीन है, याने कि और किसी उत्पाद पर मिले ब्याज पर आपको आयकर देना होगा। आप ELSS में डिविडेन्ड ऑप्शन ले सकते हैं तो आपको हर वर्ष अपने निवेश का कुछ पैसा लॉकइन समय में डिविडेन्ड के रूप में वापस मिल जाता है।

निवेश में एनएससी और पीपीएफ से जोखिम ज्यादा है।

आपको ELSS लगभग सभी म्यूचयल फंड कंपनियों के मिल जायेंगे और आप इसके लिये कोई भी कंपनी का वह म्यूचयल फंड चुनें, जिसके अच्छा करने की याने कि अच्छे लाभ कमाने की संभावनायें ज्यादा है। हमेशा ध्यान रखें, जिन म्यूचयल फंडों ने अभी तक अच्छा प्रदर्शन किया है, जरूरी नहीं कि वे आगे भी अच्छा प्रदर्शन करें।

आप ELSS को ऑनलाईन EKYC करके भी खरीद सकते हैं, EKYC के बाद आप लगभग 5-7 दिनों के बाद आप ऑनलाईन म्यूचयल फंड खरीद सकते हैं। आखिरी समय का इंतजार न करें, EKYC आज ही कर लें और जब आपके पास निवेश के लिये रूपये हों तब खरीद लें।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *