शेयर बाजार में कब क्यों कहाँ और कैसे निवेश करना चाहिये?

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

शेयर बाजार को सीखने के लिये निवेश करने के लिये क्या आना चाहिये ?

यह प्रश्न लगभग सभी के जहन में आता है कि शेयर बाजार को कैसे सीखें और कब क्यों कहाँ और कैसे निवेश करना चाहिये?, सब केवल यही समझते हैं कि यह केवल चार्टर्ड एकाऊँटेंट या फिर वही व्यक्ति समझ सकते हैं जो फाइनेंस के बारे में जानते हैं। मेरे अनुसार तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं है, और मैंने कई लोगों को देखा है जिनकी फाइनेंस के बारे में जानकारी शून्य है और वे बहुत अच्छा खासा शेयर बाजार में निवेश करके बढ़िया पैसा बना रहे हैं।

सबसे पहली बात कि कॉमनसेंस होना चाहिये –

मतलब कि बाजार गिर रहा है या बढ़ रहा है, तो आपको समझ में आना चाहिये अगर बाजार गिर रहा है तो आपको अभी खरीदने से बचना चाहिये, जब अच्छे भाव आ जायें याने कि भाव कम हो जायें किसी भी शेयर के जो आप खरीदना चाहते हैं तो उनको खरीद लें। वैसे ही जब बाजार चढ़ रहा है तो आपको बहुत से शेयर खरीदने से बचना चाहिये क्योंकि थोड़े से भी करेक्शन में शेयर अच्छे खासे टूट सकते हैं, तो आपको अपने टार्गेट के अनुसार शेयर बेच देना चाहिये।

बेसिक गणित आना चाहिये –

आप किसी भी शेयर को जब भी खरीदते हैं तो हमेशा बेचने के लिये ही खरीदते हैं, सोचते हैं कि बस अब शेयर जब बढ़ जायेगा तब हम बेचकर लाभ ले लेंगे। तो बेचने के भाव से खरीदने के भाव को घटाना आना चाहिये और ब्रोकरेज की गणना करनी आनी चाहिये। वैसे तो आजकल सब कुछ कंप्यूटरीकृत है तो ब्रोकरेज की गणना में गलतियों की संभावना न के बराबर होती है। लाभ से आपको अपने शेयरों के नंबर में गुणा करना आना चाहिये।

शेयर कैसे खरीदें –

अगर आपको कंप्यूटर चलाना नहीं आता है और आप शेयर बाजार में ट्रेडिंग करना चाहते हैं तो आजकल लगभग सभी ब्रोकरेज हाऊसेस की मोबाईल एप्प उपलब्ध है, आप एप्प से ट्रेडिंग कर सकते हैं, और यह बहुत आसान व सुरक्षित भी है। आपको पहले अपने ऑनलाईन बैंक एकाऊँट से पैसा ब्रोकर के खाते में जमा करना होगा, तो ब्रोकर आपके ट्रेडिंग एकाऊँट में उतनी रकम की लिमिट दे देगा। फिर आप ऑनलाईन शेयर खरीद सकते हैं।

शेयर में क्या खरीदें –

अगर नये निवेशक हैं तो किसी भी अफवाह पर ध्यान न दें, जनरली ब्रोकर लोग बहुत से कचरा शेयरों के लिये बढ़ा चढ़कर बताते हैं, और जिससे लाभ तो नहीं होता उल्टा नुक्सान हो जाता है। हमेशा ही अच्छी कंपनी के शेयर खरीदें, उन कंपनियों के शेयर खरीदें जिनके समान आप दैनिक उपयोग में ला रहे हैं, जैसे कि टूथ पेस्ट, दाल, तेल, घी, शेविंग क्रीम, साबुन, कार, स्कूटर, बाईक इत्यादि। क्योंकि इन समानों की बिक्री तो होनी ही है, जैसे आप इन समानों का उपयोग कर रहे हैं, वैसे ही कई अन्य लोग अपने घरों में इनका उपयोग कर ही रहे होंगे, तो इसका मतलब है कि कंपनी की कमाई अच्छी है और वित्तीय रूप से मजबूत है।

शेयर क्यों खरीदें –

आपके वित्तीय जीवन के लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिये आपको शेयर बाजार में किसी न किसी तरह से जरूर निवेश करना चाहिये। अगर आप अपनी मेहनत की कमाई को केवल फिक्स रिटर्न वाले निवेश उत्पादों में ही लगाते रहेंगे तो आपकी बचत को तो मुद्रास्फीति ही खा जायेगी और आपको लक्ष्य प्राप्त करने की अवधि बढ़ती जायेगी। अपने बेहतर भविष्य के लिये कम से कम अपनी बचत का 20-25 प्रतिशत हिस्सा हर माह शेयर बाजार में सीधे या फिर म्यूचुअल फंड के जरिये जरूर निवेश करें।

शेयर कब खरीदें –

यह सबसे बड़ा सवाल है कि कब खरीदें, मेरे हिसाब से तो खरीदने के लिये हर वक्त सही होता है, भले बाजार अपनी ऊँचाई पर हो या निम्नतम स्तर पर। बस आपका चुना हुआ शेयर अच्छा होना चाहिये, फिर बाजार के उतार चढ़ाव से उसका कोई संबंध नहीं है। किसी सेक्टर से संबंधित अगर कोई अच्छी खबर आती है तो उन सेक्टरों के शेयरों के भाव बढ़ने की संभावना ज्यादा होती है।

शेयर कब बेचें –

यह एक बहुत बड़ा प्रश्न है, अच्छे अच्छे निवेशक यहाँ पर फंस जाते हैं कि खरीदे हुए शेयरों को कब बेचें। कुछ निवेशक तो अपने अच्छे खासे मुनाफे को भी नहीं भुना पाते, वे सोचते हैं कि शेयर का भाव और बढ़ेगा ओर होता उल्टा है, तो उनको अपने मुनाफे से हाथ धोना पड़ता है। जब भी खरीदें तो अगर किसी निश्चित समय या निश्चित टार्गेट के लिये आप शेयर खरीद रहे हैं तो निश्चित करें कि आप अपनी लोअर व अपर लिमिट दोनों लगा लें, कि घाटा हो तो इतने में बेच देना है, याने कि स्टॉपलॉस, और ऊपर जाये तो इतने मुनाफे के बाद बेच देना है। ज्यादा लालच हमेशा बुरा होता है, तो ज्यादा लालच न करें और अपने टार्गेट पर ध्यान दें, अगर कंपनी बाजार में उम्मीद से ज्यादा अच्छा कर रही है, तो अपने टार्गेट बढ़ा दें और उन पर ध्यान रखें।

 

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *