उम्र के साथ निवेश के तरीके भी बदलिये Change Investment Types with your Age

आपकी उम्र के साथ ही आपके निवेश करने के तरीके भी बदलने चाहिये। Change Investment Types with your Age बदलाव ही जीवन है, क्योंकि आपकी उम्र, आपका निवेश, आपकी कमाई सब कुछ बदलता है। 20 वर्ष में – निवेश – इक्विटी म्यूचुअल फंड्स एवं टैक्स सेविंग इक्विटी लिंक्ड सेविंग स्कीम(ELSS), सस्ते जीवन बीमा (Life Insurance) […]
Continue reading…

 

अगर SIP की कुछ किश्तें न भर पायें तो क्या करें? What if you miss SIP installments?

SIP में निवेश करना याने कि लंबी अवधि के लिये अपने निवेश के लिये प्रतिबद्धता है। आप अपने म्यूचुअल फंड हाऊस को हर महीने या त्रैमासिक, किसी एक दिन पर बैंक से सीधे पैसे लेने की मंजूरी दे देते हैं, जिसे कि ऑटो डेबिट सुविधा भी कहा जाता है। पहले यह एक फॉर्म पर देना […]
Continue reading…

 

SIP चल रही है, अब उस SIP में ही और ज्यादा निवेश करना चाहते हैं, तो क्या करना होगा ?

SIP चल रही है, अब उस SIP में ही और ज्यादा निवेश करना चाहते हैं, तो क्या करना होगा ? SIP निवेश के लिये एक अहम वित्तीय उत्पाद है और SIP में निवेश अपनी क्षमता अनुसार किसी भी समय बढ़ाना हमेशा ही आपके लक्ष्यों के लिये लाभदायक साबित होगा। SIP में निवेश बढ़ाने के लिये […]
Continue reading…

 

#AChanceToFly बच्चों को बैलून में उड़ने का मौका

हर अभिभावक अपने बच्चों के सपने पूरा करना चाहता है। फिर भले ही वे सपने उनके बस की हो या नहीं ये अलग बात है। बच्चों को सभी प्रकार की सुविधायें देने के लिये अभिभावक को smart planning की और ध्यान देना होगा। जिससे वे समय समय पर अपने बच्चों को खुशियाँ दे पायें। बच्चो […]
Continue reading…

 

KYC Compliance म्यूचयल फंड या बाजार में निवेश के लिये जरूरी है।

  अगर आप म्यूचयल फंड या बाजार में याने कि सीधे स्टॉक, बॉन्ड या कमोडिटी में निवेश करना चाहते हैं तो निवेशक को सेबी (SEBI) की जरूरत याने कि Know Your Customer KYC Compliance को पूरा करना होता है। हर व्यक्ति निवेश करना चाहता है परंतु केवल Know Your Customer (KYC) को जटिल प्रक्रिया मानकर […]
Continue reading…

 

क्या आप सुरक्षित आर्थिक जीवन के लिये प्रतिबद्ध हैं ?

    हम कमाते हैं, हम घर के खर्चों को उठाते हैं, बैंक के ऋण की किस्त चुकाते हैं और हमारी बचत बैंक में हो ही रही है। और फिर बाद में हम अपनी कमाई की बचत से सावधि जमा (Fixed Deposit) बनवा लेते हैं और थोड़े समय बाद फिर से एक और बनवा लेते हैं। […]
Continue reading…