What Investor will do? आम निवेशक क्या करे? कैसे निवेश करे?

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmail

बाजार अपने उच्चतम शिखर छूता जा रहा है और आम निवेशक (Investor) बाजार में घबरा रहा है कि अब वह कैसे और कहाँ निवेश करे। पहले जिन टीवी चैनलों, किताबों, समाचार पत्रों और विशेषज्ञों को देख, पढ़ और सुनकर जो भी निवेश करने के निर्णय वह लेता था, अब उनको देखकर सोच समझकर ही आम निवेशक को घबराहट होने लगती है। कई बार तो आम निवेशक को लगता है कि जैसे बहुत से शेयर कुछ ही समय में बहुत अच्छा फायदा दे चुके हैं, वे अब बहुत अच्छा नहीं करने वाले हैं। ऐसा लगने का एक कारण यह भी है कि उनको शेयर बाजार और कंपनियों को पढ़ना नहीं आता है, वे कंपनी के भविष्य की कल्पना नहीं कर सकते हैं, न ही वे सोच सकते हैं कि यह प्रबंधन सही तरीके से ही काम कर रहा है और इसी तरह से काम करता रहा तो कंपनी को बहुत फायदा होगा।

खैर आजकल अगर आम निवेशक को पढ़ना भी शुरू करना है, कोई जानकारी जुटानी है तो अब इंटरनेट के युग में कोई बड़ी बात नहीं। इंटरनेट नहीं तो किसी और प्रकार से यह जानकारी मिल ही जाती है, सभी लोग परिपक्व हुए हैं। जानकारी पहले ढ़ूँढ़ना जितना कठिन था अब जानकारी पाना उतना ही आसान हो चुका है। ऐसा नहीं है कि अब ऐसी कंपनियाँ उपलब्ध नहीं हैं जो आगे जाकर बहुत अच्छा करने वाली हैं और निवेशकों को कई गुना फायदा देने वाली हैं। आज भी ऐसी कंपनियाँ उपलब्ध हैं, बस आजकल अच्छी कंपनियाँ बहुत ही सस्ते वैल्यूएशन पर उपलब्ध नहीं है, हर कंपनी बाजार के हिसाब से ठीक ठाक वैल्यूएशन पर उपलब्ध हैं।

पहले जब जानकारी केवल वार्षिक रिपोर्ट से निकाली जाती थी और कुछ ही कंपनियों के पास ही कंपनियों का विश्लेषण करने वाले विशेषज्ञ उपलब्ध होते थे पर अब ऐसा नहीं है, अब कंपनियाँ भी बहुत सारी हैं और उनके साथ साथ ही कंपनियों का विश्लेषण करने वाले विशेषज्ञ भी बहुत सारे उपलब्ध हैं। सीधे शेयर बाजार में निवेश के लिये अब जितनी विशेषज्ञता की जरूरत है, उतनी आम निवेशक के पास होना बहुत ही मुश्किल है। क्योंकि उनका सीधा मुकाबला उन विशेषज्ञों से है जो कि शेयर बाजार में पिछले 20-30 वर्षों से काम कर रहे हैं और उनके पास जानकारी जुटाने की सारी सुविधायें बहुत ही बड़े स्तर पर मौजूद हैं।

अब तो आम निवेशक को बहुत ही अच्छी कंपनियों में निवेश करना चाहिये, या फिर जोखिम न लेते हुए, सीधे ही म्यूचुअल फंड में निवेश करना चाहिये। म्यूचुअल फंड को चलाने वाले जो फंड मैनेजर हैं वे भी शेयर बाजार का लंबा अनुभव रखते हैं और आपके लिये कुछ ही कमीशन पर काम करते हैं। आप एक थोड़े से कमीशन को देकर जो कि इतना कम होता है कि आपको पता भी नहीं चलता है, आप एक प्रोफेशनल फंड मैनेजर की विशेषज्ञता का लाभ उठा लेते हैं। जब आप किसी म्यूचुअल फंड को निवेश के लिये चुनते हैं तो आप उनके फंड मैनेजर का पिछला परफॉर्मेंस भी देख सकते हैं।

अगर आपको लगता है कि आप शेयर बाजार की बहुत अच्छा समझ रखते हैं तो आप यह करें कि अगर आपको पास 10 लाख रूपया है तो आप 9 लाख रूपया किसी म्यूचुअल फंड में लगायें और केवल 1 लाख रूपये को आप अपनी जानकारी या विशेषज्ञता के जोखिम में डालें। आप खुद ही 1 या 2 वर्ष में देख लें कि आपने जो पैसा सीधे शेयर बाजार में अपनी विशेषज्ञता से लगाया है वह ज्यादा लाभप्रद साबित हुआ या फिर जो पैसा म्यूचुअल फंड में लगाया, वहाँ ज्यादा लाभ हुआ। उसके बाद ही अपने निवेश पर अपनी राय कायम करें जिससे कि आपको भी इस बदलती हुई निवेश की दुनिया के बारे में पता चले।

2 thoughts on “What Investor will do? आम निवेशक क्या करे? कैसे निवेश करे?

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *